SUBJECT :Wild Life 

भोपाल। वन विभाग के भोपाल रेंज सहित प्रदेश में बाघों की गिनती का सिलसिला जारी है। यह गणना 20 जनवरी से शुरू हुई है, जो 25 जनवरी को भी जारी रहेगी। गिनती के बाद सारी जानकारी और डाटा देहरादून स्थित वाइल्ड लाइफ इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को भेजा जाएगा। वहां से आधिकारिक तौर पर प्रदेश में बाघों की संख्या की जानकारी जारी होगी। गणना में भोपाल रेंज में बाघों की संख्या बढ़ने की संभावना जताई जा रही है।

वन विभाग के प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार इस बार भोपाल रेंज में बाघों की संख्या में इजाफा होने की उम्मीद है। भोपाल के आसपास ही आधा दर्जन से अधिक बाघ, बाघिन और शावकों के होने की जानकारी मिली है। इसमें कुछ शावक नए भी हैं। वन विभाग के अनुसार प्रदेश के पांच टाइगर रिजर्व में इस समय अधिकृत तौर पर कुल 292 बाघ मौजूद हैं। अधिकारियों के अनुसार बाघों की सही संख्या पता लगाने के लिए प्रशिक्षित वन अमला उनके पगमार्क, खरोंच, शिकार करने का तरीका, जंगल में रहने वाले लोगों से पूछताछ सहित कुल 10-12 बिंदुओं के आधार पर गिनती कर रहा है।

वन विहार में भी गिनती शुरू

भोपाल के वन विहार राष्ट्रीय पार्क में भी तीन दिवसीय वन्य प्राणी गणना का काम बुधवार से चल रहा है। वन विहार के सहायक संचालक डॉक्टर सुदेश वाघमारे ने बताया कि गणना में करीब 80 कर्मचारियों को लगाया गया है।

भोपाल रेंज की सभी 610 बीटों पर फील्ड अधिकारी सहित वन अमले को बाघ गणना में लगाया गया है। यह गणना 25 जनवरी तक जारी रहेगी। गणना के बाद डाटा देहरादून स्थित वाइल्ड लाइफ इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को भेजा जाएगा। महेंद्र यादवेंदु, मुख्य वन संरक्षक, भोपाल वृत्त


Source: Patrika Newspaper (Dated 25 Jan 2014)